health benefits of ginger - सेहत के लिए अदरक के फायदे और नुकसान

Ginger (Adrak) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi


benefits of ginger water
benefits of ginger

दुनिया में सबसे ज्यादा उपजाए जाने वाले मसाले के रूप में अदरक बहुपयोगी औषधीय गुणों से भरपूर और पोषण की खान है। इसे विभिन्न तरीकों से उपयोग (ginger uses) में लाया जा सकता है। (adrak ke fayde) अदरक में खून को पतला करने का नायाब गुण होता है। इसी वजह से यह ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी तक में तुरंत लाभ पहुंचाने के लिए जाना जाता है।लगभग 100 से ज्यादा बीमारियों में इसका इस्तेमाल लाभकारी माना जाता है। (Benefits of Ginger) कई लोकप्रिय व्‍यंजनों में स्‍वाद बढ़ाने के लिए प्रमुख सामग्री के रूप में अदरक का इस्‍तेमाल किया जाता है। अदरक से शरीर को एनर्जी और जोश मिलता है, इसीलिए अदरक (adrak kaise khaye) का इस्‍तेमाल न सिर्फ खाने में, बल्कि और भी कई रूपों में किया जाता है।
 अदरक को आयुर्वेदिक महा-औषधि के रूप में जाना जाता है। कई वैज्ञानिक शोध इस बात की पुष्टि भी करते हैं। अदरक में शरीर के लिए आवश्यक सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। ताजा अदरक में 81% पानी, 2.5% प्रोटीन, 1% वसा, 2.5% रेशे और 13% कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। इस लेख को पढ़ कर जाने अदरक के फायदों के बारे में।


सेहत के लिए अदरक के फायदे – Health Benefits of Ginger in Hindi


1. खांसी के लिए :

खांसी में अदरक बहुत फायदेमंद होता है। खांसी आने पर अदरक के छोटे टुकडे को बराबर मात्रा में शहद के साथ गर्म करके दिन में दो बार सेवन कीजिए। इससे खांसी आना बंद हो जाएगा और गले की खराश भी समाप्त होगी। 

 

 

2. श्वसन संबंधी समस्या :


जिन्हें सांस संबंधी समस्या होती है, उनके लिए अदरक असरकारक साबित हो सकता है। इसमें एंटीहिस्टामाइन गुण होते हैं, जो एलर्जी को ठीक करने में मदद करते हैं। सर्दी-जुकाम जैसी समस्या के लिए अदरक का इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। अगर आपको गले में खराश जैसी समस्या होती है, तो आप अदरक के रस में शहद मिलाकर खा सकते हैं। इसके अलावा, अगर आपकी नाक बंद हो या गला खराब हो, तो अदरक की चाय राहत पहुंचा सकती है।

3. पाचन :


अदरक पाचन शक्ति को मजबूत करने में मदद करता है। अदरक के सेवन से पित्त की थैली से पित्त निकालने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, यह गैस के कारण पेट में होने वाली ऐंठन व दस्त जैसी समस्या से राहत दिलाने में भी मदद करता है।

4. कैंसर :


कई शोधों में यह बात भी साबित हुई है कि अदरक कैंसर से बचाने में मदद करता है। शोध में पाया गया है कि अदरक के अंदर कैंसर रोधी गुण मौजूद हैं, जो महिलाओं को स्तन कैंसर और गर्भाशय कैंसर से बचाते हैं।

5. दर्द निवारक :


अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक गुण होते हैं, जो दर्द निवारक का काम
करते हैं। जिन्हें अर्थराइटिस व घुटनों में दर्द जैसी समस्या होती है, उनके लिए अदरक फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा, अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होता है, जो सूजन दूर करने में मदद करता है 



 6. डायबिटीज :


अदरक रक्त शर्करा को भी कम करने का काम करता है, जिससे डायबिटीज से बचाव संभव होता है। वहीं, अगर किसी को डायबिटीज है, तो अदरक के सेवन से इंसुलिन और अन्य दवा का असर बढ़ सकता है। ऐसे में ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए सुबह-सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर पीने से आपको फायदा हो सकता है

7. वजन कम करे :

अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो अदरक आपकी मदद कर सकता है। अदरक को फैट बर्नर माना जाता है, जो न सिर्फ आपका वजन कम करता है, बल्कि अतिरिक्त फैट को भी कम करता है।
8. इम्यूनिटी बढ़ाए :
अगर आपकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है, तो आप अदरक का सेवन कर सकते हैं। यह आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। कमजोर इम्यूनिटी के कारण व्यक्ति को बीमारियां जल्दी घेर लेती हैं। जैसे ही इम्यूनिटी कमजोर पड़ने लगती है, सर्दी-जुकाम सबसे पहले जकड़ लेते हैं। अदरक में एंटीवायरल गुण होते हैं, तो यह ऐसी बीमारियों से बचाने में मदद करता है

9. कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करता है

खराब कोलेस्ट्रॉल की वजह से हृदय रोग की संभावना बढ़ती है। हमारे द्वारा खाए जाने वाली चीजों की वजह से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ता है। हाई कोलेस्ट्रॉल वाले व्यक्तियों को रोजाना 3 ग्राम अदरक पाउडर का सेवन करना चाहिए, इससे इसमें राहत मिलती है ।


10. ऑस्टियोआर्थराइटिस (Osteoarthritis) में राहत

ऑस्टियोआर्थराइटिस जोड़ों में दर्द और जकड़न पैदा करने वाली बीमारी है और यह काफी सामान्य है। वैसे तो इस बीमारी का ठीक से इलाज नहीं है, लेकिन एक रिसर्च के अनुसार कुछ लोग जिन्हें घुटने के ऑस्टियोआर्थराइटिस की दिक्कत थी उन्होंने अदरक का अर्क लिया तो उन्हें इसके दर्द में राहत मिली थी। यह भी कहा जाता है कि अदरक, मैस्टिक, दालचीनी और तिल के तेल को मिलाकर लगाने से ऑस्टियोआर्थराइटिस के दर्द में राहत मिल सकती है।

11. मसल पेन और सोरनेस में राहत

अगर आपको एक्सरसाइज करने से मांसपेशियों में दर्द हो रहा है तो अदरक के इस्तेमाल से इसमें राहत मिल सकती है। अगर किसी व्यक्ति को एक्सरसाइज की वजह से कोहनी में दर्द है तो प्रतिदिन 2 ग्राम अदरक के सेवन मांसपेशियों के दर्द को कम किया जा सकता है। वैसे तो अदरक तुरंत असर नहीं दिखाता है, लेकिन इससे मांसपेशियों में दर्द में धीरे-धीरे प्रभाव दिख सकता है।


त्वचा के लिए अदरक के फायदे – Skin Benefits of Ginger in Hindi

अगर आपको त्वचा संबंधी परेशानी है, तो आपके लिए अदरक काम की चीज हो सकती है। इसलिए, नीचे हम बताने जा रहे हैं कि किस तरह से अदरक त्वचा के लिए फायदेमंद हो सकता है :

12. एंटी एजिंग :


ginger uses


अदरक में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो एजिंग की समस्या को कम करने में मदद करते हैं। ये शरीर से टॉक्सिन को दूर कर त्वचा को जवां बनाए रखने में मदद करते हैं।
कैसे इस्तेमाल करें?
आप अदरक या अदरक के पाउडर में बराबर मात्रा में शहद और नींबू का रस मिलाएं। फिर इसे अपने चेहरे पर लगाएं और सूखने के बाद धो लें। आप इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो बार दोहराएं।

बालों के लिए अदरक के फायदे -benefits of ginger(adrak ke fayde for hair)

घने और खूबसूरत बाल हर व्यक्ति की चाहत होते हैं, लेकिन कुछ कारणों से बालों का झड़ना व रूसी आदि समस्याएं हो जाती हैं। ऐसे में अगर आप अदरक का इस्तेमाल करते हैं तो यकीनन फायदा होगा। अदरक सिर में ब्लडसर्कुलेशन बढ़ाने का भी काम करता है, जिससे रक्त का संचार तेजी से होता है। इस वजह से यह बालों के रोमछिद्रों को उत्तेजित करता है, जिससे बाल बढ़ते हैं। इसके अलावा, अदरक में मौजूद फैटी एसिड पतले बालों के लिए फायदेमंद होता है (ginger benefits for hair)

13.  अदरक से दूर करें डैंड्रफ

adrak ke fayde for hair
adrak ke fayde for hair

डैंड्रफ, यानी रूसी की समस्या होने पर अदरक काम आ सकता है। इसमें एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो रूसी दूर करने में मदद करते हैं। ऐसे में रूसी से राहत पाने के लिए आप अदरक वाले तेल (ginger oil) का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप तीन चम्मच ऑलिव ऑयल या तिल के तेल में अदरक और नींबू का रस मिलाएं। फिर इस तेल से सिर की मालिश करें और 15 से 30 मिनट बाद सिर धो लें। आप ऐसा सप्ताह में तीन बार करें।

अदरक से होने वाले नुकसान - adrak ke nuksan in hindi



अदरक आपके इंसुलिन के स्‍तर को बढ़ा कर आपके शरीर में चीनी की मात्रा को घटा सकता है, जो कि आपके स्‍वास्‍थ्य के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। (side effects of ginger) मधुमेह रोगी को अदरक का सेवन करने से पहले अपने डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा कुछ लोगों को अदरक से एलर्जी भी हो जाती है। अदरक को त्‍वचा में लगाने से कई बार जलन पैदा हो सकती है, जो कुछ समय के लिए होती है, इसलिए त्वचा पर पहली बार अदरक लगाने से पहले जांच कर लें। यही नहीं, अदरक का नियमित सेवन करने से मासिक धर्म के समय कुछ महिलाओं को अतिरिक्‍त रक्‍तस्राव हो सकता है, क्योंकि यह शरीर में गर्मी पैदा करता है और उससे कई महिलाओं को दिक्कत होती है। ऐसा होने पर डॉक्‍टर से सलाह लेना उचित होता है। यह ब्लड-क्लॉटिंग को धीमा कर सकता है और खून के पतलेपन को प्रेरित कर सकता है। अदरक का यह दुष्प्रभाव उन रोगियों के लिए खतरनाक हो सकता है, जो ब्लड क्लॉटिंग के लिए दवाई पर निर्भर रहते हैं।

Post a Comment

If you have any doubts, please let me know